06 APRIL – BABA KI MURLI KAI AAJ KAI MAHAVAKAYA

06-04-2019 प्रात:मुरली ओम् शान्ति “बापदादा” मधुबन

”मीठे बच्चे – बाबा 21 जन्म के लिए तुम्हारी दिल ऐसी बहला देते हैं जो तुम्हें दिल बहलाने के लिए मेले-मलाखड़े आदि में जाने की दरकार नहीं”

प्रश्नः- जो बच्चे अभी बाप के मददगार बनते हैं उनके लिए कौन-सी गैरन्टी है?

उत्तर:- श्रीमत पर राजधानी स्थापन करने में मददगार बनने वाले बच्चों के लिए गैरन्टी है कि उन्हें कभी काल नहीं खा सकता। सतयुगी राजधानी में कभी अकाले मृत्यु नहीं हो सकती है। मददगार बच्चों को बाप द्वारा ऐसी प्राइज़ मिल जाती है जो 21 पीढ़ी तक अमर बन जाते हैं।

धारणा के लिये मुख्य सार :-

1) डेड साइलेन्स की ड्रिल करने के लिये यहाँ जो कुछ इन आंखों से दिखाई देता है, उसे नहीं देखना है। देह सहित बुद्धि से सबका त्याग कर अपने घर और राज्य की स्मृति में रहना है।

2) अपने कैरेक्टर्स का रजिस्टर रखना है। पढ़ाई में कोई ग़फलत नहीं करनी है। इस पुरूषोत्तम संगमयुग पर पुरूषोत्तम बनना और बनाना है।

वरदान:- बाप के फरमान पर बुद्धि को खाली रखने वाले व्यर्थ वा विकारी स्वप्नों से भी मुक्त भव

बाप का फरमान है कि सोते समय सदा अपने बुद्धि को क्लीयर करो, चाहे अच्छा, चाहे बुरा सब बाप के हवाले कर अपनी बुद्धि को खाली करो। बाप को देकर बाप के साथ सो जाओ। अकेले नहीं। अकेले सोते हो या व्यर्थ बातों का वर्णन करते-करते सोते हो तब व्यर्थ वा विकारी स्वप्न आते हैं। यह भी अलबेलापन है। इस अलबेलेपन को छोड़ फरमान पर चलो तो व्यर्थ वा विकारी स्वप्नों से मुक्त हो जायेंगे।

स्लोगन:- तकदीवान आत्मायें ही सच्ची सेवा द्वारा सर्व की आशीर्वाद प्राप्त करती हैं।

OM SHANTI
PARWANO KA GROUP
(BRAHMA KUMARIS)

Essence: Sweet children, Baba entertains your hearts in such a way that, for 21 births, you don’t need to go to fairs etc. to enjoy yourselves.

Question: What guarantee do the children who become the Father’s helpers have now?

Answer: The children, who become helpers in establishing the kingdom by following shrimat, have the guarantee that death can never come to them: there can never be untimely death in the golden-aged kingdom. The children who become helpers receive such a prize from the Father that they become immortal for 21 generations.

Essence for dharna:
1. In order to perform the drill of dead silence, do not see whatever you can see with those eyes here. Remove everything, including your body, from your intellect and stay in the awareness of your home and kingdom.

2. Keep a register of your character. Do not make any mistakes in the study. At this confluence age, you have to become the most elevated human beings and also make others same.

Blessing: May you become free from wasteful and vicious dreams by keeping your intellect empty according to the Father’s instructions.

The Father’s instructions are: At the time of going to sleep, clear your intellect. Whether it is something good or bad, hand it over to the Father and empty your intellect. Hand over everything to the Father and go to sleep with the Father, not alone. When you go to sleep alone or after talking about wasteful things, you then have wasteful or vicious dreams. This is also carelessness. Let go of this carelessness and follow the Father’s instructions and you will become free from wasteful and vicious dreams.

Slogan: Only fortunate souls are able to receive blessings by doing true service.

OM SHANTI
PARWANO KA GROUP
(BRAHMA KUMARIS)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *