• 19 JULY – BABA KI MURLI KAI AAJ KAI MAHAVAKAYA

    19-07-2018 प्रात:मुरली ओम् शान्ति “बापदादा” मधुबन

    ”मीठे बच्चे :- तुम्हारा यह जन्म बहुत ही अमूल्य है, क्योंकि बाप स्वयं इस समय तुम्हारी सेवा करते हैं, लक्ष्य सोप से तुम्हारे वस्त्र साफ करते हैं”

    प्रश्न:- जो अल्लाह को सृष्टि का रचयिता कहते हैं उनसे कौन-सा प्रश्न पूछना चाहिए?
    उत्तर:- उनसे पूछो – जब अल्लाह ने सृष्टि रची तो रचना के लिये उन्हें फीमेल चाहिये, भला अल्लाह की फीमेल कौन? गॉड फादर कहते हो तो जरूर मदर भी चाहिये ना। तुम बच्चे इस गुह्य राज़ को अच्छी तरह से जानते हो। अल्लाह की फीमेल है यह ब्रह्मा। यह है तुम्हारी बड़ी माँ। इस बात को मनुष्य समझ नहीं सकते।

    गीत:- किसने यह सब खेल रचाया……..
    धारणा के लिए मुख्य सार:- 

    1) गद्दी-नशीन पक्का वारिस बनने के लिये पवित्रता की प्रतिज्ञा कर सगा बच्चा बनना है, और संग तोड़ एक संग जोड़ना है।
    2) आप समान बनाने की सेवा करनी है। कांटे से कली, कली से फूल बनना और बनाना है। नये झाड़ की कलम लगानी है।

    वरदान:- हर बात में मुख से वा मन से बाबा-बाबा कह मैं पन को समाप्त करने वाले सफलता मूर्त भव

    आप अनेक आत्माओं के उमंग-उत्साह को बढ़ाने के निमित्त बच्चे कभी भी मैं पन में नहीं आना। मैंने किया, नहीं। बाबा ने निमित्त बनाया। मैं के बजाए मेरा बाबा, मैने किया, मैने कहा, यह नहीं। बाबा ने कराया, बाबा ने किया तो सफलतामूर्त बन जायेंगे। जितना आपके मुख से बाबा-बाबा निकलेगा उतना अनेकों को बाबा का बना सकेंगे। सबके मुख से यही निकले कि इनकी तात और बात में बस बाबा ही है।

    स्लोगन:- संगमयुग पर अपने तन-मन-धन को सफल करना और सर्व खजानों को बढ़ाना ही समझदारी है।

    OM SHANTI
    PARWANO KA GROUP
    (BRAHMA KUMARIS)

    Essence: Sweet children, this birth of yours is very precious because the Father Himself serves you at this time. He washes your clothes with Lux (Laksh-aim) soap.

    Question: What question should you ask those who call Allah the Creator of the world?
    Answer: Ask them: When Allah created the world, He would have needed a female too. So, who was the female for Allah? Since you say, “God, the Father” a mother is also needed. You children know this deep secret very well. The female for Allah is this Brahma. He is your senior mother. Human beings cannot understand this.

    Song: Who created this play and hid Himself away?
    Essence for dharna: 

    1. In order to become a true heir seated on the throne, promise to become pure and become a real child. Break away from everyone else and connect yourself to the One.
    2. Serve to make others similar to yourself. Become a bud from a thorn and a flower from a bud and make others into flowers. Plant the sapling of the new tree.

    Blessing: May you finish the consciousness of “I” and become an embodiment of success by saying “Baba, Baba” both verbally and in your mind in every situation.

    You souls are instruments to increase zeal and enthusiasm in many other souls and so you cannot ever have the consciousness of “I”. Not that, “I did this”. No, Baba made you an instrument. Instead of “I”, let it be “my Baba”. Not, “I did this, I said this.” Baba made you do it, Baba did it. You will then become an embodiment of success. The more “Baba, Baba” emerges through your lips, the more you will be able to make many others belong to Baba. Let it emerge from everyone’s lips that you only have one Baba as your one concern in every situation.

    Slogan: To use your body, mind and wealth in a worthwhile way at the confluence age and to increase your treasures is being sensible.

    OM SHANTI
    PARWANO KA GROUP
    (BRAHMA KUMARIS)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *